Subscribe:

कुल प्रविष्ठियां / टिप्पणियां

विजेट आपके ब्लॉग पर

Saturday, November 07, 2009

मेरी गज़लें - मेरे साथ

राजेश चड्ढ़ा

ऑडियो सुनने के लिए यहाँ प्ले करें

2 टिप्पणियाँ:

Dushyant joshi said...

प्रणाम अंकल ,
गज़लें सुनी....दिल को छू गई....आपकी आवाज़ में और गज़लें भी लगाएं...इंतज़ार रहेगा.

Rajendra Swarnkar said...

प्रिय बंधु राजेश जी
नमस्कार !
आपकी ग़ज़लें आपके दिलकश अंदाज़ में ,
आपकी ख़ूबसूरत आवाज़ में सुन कर
आज का दिन सार्थक हो गया ।

लाजवाब !

आगे से हर ग़ज़ल अलग अलग प्लेयर में अपलोड करके लगाएं ,
इससे लोड भी आसानी से होगा सुनते वक़्त ,
और अपनी ज़्यादा पसंद की ग़ज़ल दुबारा आसानी से सुन पाएंगे ।

शुभकामनाओं सहित …
- राजेन्द्र स्वर्णकार

Post a Comment